दिलीप अंकल ने बच्चों की समस्याओं के ऑनलाइन समाधान बताये

शि.वा.ब्यूरो, रावतभाटा। वर्ल्ड चिल्ड्रन डे पर गायत्री बाल संस्कार शाला के बच्चों की समस्याओं के ऑनलाइन समाधान बताये। निशा ने कहा कि ऑनलाइन क्लास के बाद आंखें में दर्द होता है। दिलीप ने कहा कि क्लास में ब्रेक के समय आंखें पानी से धोएं। क्लास के अलावा स्मार्टफोन नहीं काम में लें। डॉक्टर से संपर्क कर आई ड्रॉप डालें। पूजा ने कहा कि व्हाट्सएप पर लेसन की फाइल आ जाती है, मैं अपने प्रश्न नहीं पूछ पाती। दिलीप ने कहा कि पेपर पर अपने प्रश्न लिखकर फोटो लेकर उसी नंबर पर भेज दो। मम्मी-पापा तुम्हारे टीचर का नंबर लेकर तुम्हारी उनसे बात भी करवा सकते हैं। परिवार में भाभी दीदी अथवा अनुमति लेकर पड़ोस में रहने वाली भाभी दीदी से सहायता ले सकती हो। शिखा ने कहा कि ऑनलाइन क्लास में स्पष्ट समझ नहीं आ पाता। रोहित निधि कावेरी जया कुशल ज्योति हरीश की भी यही समस्या थी। दिलीप ने कहा कि सेल्फ स्टडी करें, पढ़ने के बाद लिखें। प्रश्न कॉपी में नोट कर लें, अगर अभी ट्यूशन जा रहें हैं तो ट्यूशन टीचर से समाधान पूछ लें, वरना कक्षा 9 से 12 के विद्यार्थी मम्मी पापा की अनुमति लेकर स्कूल जाकर भी स्कूल टीचर से अपने प्रश्न पूछने जा सकते हैं। 1 से 8  कक्षा के वियर्थियों की स्कूल खुलने की प्रतीक्षा करनी होगी। दिलीप ने कहा कि एक ही लेसन की दो तीन चार बार पढ़कर पढ़े हुए को लिखने से सेल्फ स्टडी की प्रैक्टिस करने का प्रयास करें। दिलीप ने सभी बच्चों की वर्ल्ड चिल्ड्रन डे की शुभकामना दी।

Related posts

Leave a Comment