रखवाले

कुंवर आरपी सिंह, शिक्षा वाहिनी समाचार पत्र।

हे राम ,भक्त के रखवाले!
हे श्याम, प्रेम के मतवाले !
आतंक अन्याय से युद्ध करो !
फिर आके धरा को शुद्ध करो!!
जब पाप बढ़े इस धरती पर,
तुमने मन में क्यों मौन धरो ?
 जब राह न सूझे निर्बल को,
तुम उसके खेवनहार बनो !
 हे राम बसो मन गुँजन में,
मानवता का उद्धार करो !कुछ करतब फिर दिखला जाओ,
धरती से पाप मिटा जाओ!!
हे राम श्याम सब टेर रहे,
नैनन की प्यास बुझा जाओ !
दर्शन की प्मासी सब अंखियाँ,
 हे राम कभी तुम आ जाओ!
हे श्याम कभी तुम आ जाओ !!
राष्ट्रीय अध्यक्ष जय शिवा पटेल संघ

Related posts

Leave a Comment