शिक्षक एमएलसी चुनाव के लिए भाजपा प्रत्याशी श्रीचंद शर्मा ने दल-बल के साथ किया नामांकन

शि.वा.ब्यूरो, मेरठ। मेरठ-सहारनपुर शिक्षक खंड विधान परिषद चुनाव के लिए भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार श्रीचंद शर्मा ने बुधवार की सुबह मेरठ में नामांकन किया है। श्रीचंद शर्मा ने दल बल के साथ नामांकन किया। उन्होंने नामांकन पत्र के तीन सेट दाखिल किए हैं। इस दौरान जेवर से भारतीय जनता पार्टी के विधायक ठाकुर धीरेंद्र सिंह, दादरी से विधायक मास्टर तेजपाल सिंह नागर, लोनी से विधायक नंदकिशोर गुर्जर और भाजपा नेता सत्यवीर त्यागी उनके साथ मौजूद रहे।
श्रीचंद शर्मा का नामांकन करवाने के लिए भारतीय जनता पार्टी के तमाम बड़े नेता मेरठ पहुंचे। इससे पहले बुधवार की सुबह करीब 9:00 बजे श्रीचंद शर्मा ग्रेटर नोएडा से मेरठ के लिए रवाना हुए। उनके साथ समर्थकों और भाजपा नेताओं का काफिला मेरठ पहुंचा है। श्रीचंद शर्मा ने अपने प्रस्तावकों के साथ मेरठ मंडलायुक्त कार्यालय में रिटर्निंग ऑफिसर के सामने नामांकन दाखिल कर दिया है। इस मौके पर उनके साथ ठाकुर धीरेंद्र सिंह, तेजपाल सिंह नागर, नंदकिशोर गुर्जर और सतवीर त्यागी ने नामांकन पर हस्ताक्षर किए हैं।
नामांकन दाखिल करने के बाद श्रीचंद शर्मा ने कहा कि केंद्र और राज्य में भारतीय जनता पार्टी की सरकारों ने समाज के प्रत्येक वर्ग के लिए काम किया है। उत्तर प्रदेश में लगातार शिक्षा क्षेत्र में सुधार हमारी सरकारों की पहचान है। हाल ही में भारत सरकार ने नई शिक्षा नीति घोषित की है। जिसमें शिक्षकों के हितों का व्यापक रूप से संरक्षण किया गया है। उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार, शिक्षकों, शिक्षणेत्तर कर्मचारियों और शिक्षण संस्थाओं का विकास करने के लिए कटिबद्ध हैं। श्रीचंद शर्मा ने कहा कि इस चुनाव में भारतीय जनता पार्टी की जीत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उत्तर प्रदेश में मजबूती देगी। यह जीत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की विकास योजनाओं की जीत होगी।
बुधवार की सुबह श्रीचंद शर्मा ने गौतमबुद्ध नगर में अपने चुनाव कार्यालय की भी शुरुआत की है। इस मौके पर गौतमबुद्ध नगर भारतीय जनता पार्टी के तमाम पदाधिकारी और कार्यकर्ता उपस्थित रहे। चुनाव कार्यालय का शुभारंभ करने के बाद श्रीचंद शर्मा नामांकन के लिए मेरठ रवाना हुए। श्रीचंद शर्मा का कहना है कि वह सदैव शिक्षक हितों के लिए काम करते रहे हैं। भविष्य में भी शिक्षकों के हितों की रक्षा उनका मुख्य उद्देश्य रहेगा। उन्होंने कहा कि भारतीय संस्कृति गुरु को ईश्वर से भी ऊपर मानती है।

Related posts

Leave a Comment