जनपद में चला प्याज की जमाखोरी एवं कालाबाजारी के खिलाफ सघन अभियान

शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर।  जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे0 के कड़े निर्देशो के क्रम में आज जनपद भर में आलू, प्याज टमाटर के थोक व फुटकर विक्रेताओं के यहां ताबडतोड़ छापेमारी की गयी। कृषि उत्पादन मण्डी समिति कूकड़ा में जिला पूर्ति अधिकारी बीके शुक्ला ने जिला खाद्य विपणन अधिकारी कमलेश कुमार सिंह के साथ आलू प्याज के थोक एवं फुटकर विक्रेताओं के यहां आकस्मिक छापेमारी की और उनके यहां प्याज के स्टाॅक एवं ब्रिकी मूल्य की जांच की। इनके साथ जांच टीम में क्षेत्रीय खाद्य अधिकारी अनिल कुमार भारद्वाज व पूर्ति निरीक्षक अनुज कुमार सिंह भी साथ थे। मै0 इरशाद अहमद, फराज अहमद के यहां जांच के समय प्याज का स्टाॅक 15 कुन्तल, मै0 मौ0 जाहिद, मौ0 आबिद के यहां 50 कुन्तल, मै0 मुजफ्फर के यहां प्याज के स्टाॅक 190 कुन्तल पाया गया। शासन द्वारा थोक आढ़ती के यहां प्याज की स्टाॅक सीमा 250 कुन्तल एवं फुटकर आढ़ती के यहां 20 कुन्तल निर्धारित है। जांच में सभी के यहां स्टाॅक निर्धारित सीमा में होने के कारण किसी के विरूद्ध कोई कार्यवाही नहीं की गयी। जिला पूर्ति अधिकारी बीके शुक्ला ने प्याज की जमाखोरी एवं कालाबाजारी न करने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी के निर्देश के क्रम में कृषि उत्पादन मण्डी समिति मु0नगर के गेट नं0-01 एवं गेट नं0-04 बाबूराम गेट पर जन सामान्य की बिक्री के लिये आलू प्याज एवं टमाटर का बिक्री काउण्टर भी लगाया गया। यहां पर जन सामान्य को प्याज 35 रूपये प्रति किलो, टमाटर 35 रूपये प्रति किलो एवं आलू 30 रूपये प्रति किग्रा के हिसाब से आम जनता के बिक्री की जा रही हैं। इन बिक्री काउण्टर पर दिन भर जनता बड़ी संख्या में खरीदारी करती दिखाई पड़ी।
खतौली में उपजिलधिकारी इन्द्राकान्त द्विवेदी ने भी पूर्ति निरीक्षक नरेन्द्र प्रताप सिंह के साथ मण्डी में जांच एवं छापामारी की। उपजिलाधिकारी कुमार भूपेन्द्र ने पूर्ति निरीक्षक एनपी सिंह के साथ शाहपुर मण्डी में, अजय कुमार अम्बष्ट उपजिलाधिकारी जानसठ ने पूर्ति निरीक्षक अनिल कुमार वर्मा के साथ जानसठ मण्डी में भी आज प्याज के स्टाॅक की जांच के लिये थोक एवं फुटकर आड़तियों के यहां आकस्मिक छापेमारी की।
दिनभर चले छापेमारी अभियान से प्याज के थोक एवं फुटकर आढ़तियों में हड़कंप मचा रहा। जिसका परिणाम यह रहा कि थोक मण्डी में आवश्यक प्याज का दाम गिरकर 3200 रूपये प्रति कुन्तल तक आ गया। सबसे अच्छी प्याज भी 3900 से 4000 रूपये प्रति कुन्तल के दाम पर ही बिकने लगी। जनपद के फुटकर सब्जी मार्केट में भी प्याज का दाम गिर गया, जिससे आज जनता के सस्ती दर पर आलू प्याज उपलब्ध होने लगी। जिलाधिकारी द्वारा कड़ाई से निर्देशित किया गया है कि छापेमारी कार्यवाही निरन्तर जारी रखी जाये। जिस भी थोक या फुटकर एजेन्ट के यहां प्याज का स्टाॅक निर्धारित सीमा से अधिक पाया जाये तत्काल उसके विरूद्ध आवश्यक वस्तु अधिनियम-1955 की धारा 3/7 के अन्तर्गत मुकदमा दर्ज कराया जाये।

Related posts

Leave a Comment