टीबी उन्मूलन कार्यक्रम के तहत 75 बच्चों को सामाजिक संस्थाओं ने लिया गोद, बांटी आहार सामग्री

शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर। वर्ष 2025 तक देश को टीबी मुक्त बनाने के उद्देश्य से प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन के आह्वान पर क्षय रोग विभाग के साथ स्वंय सेवी संस्थाएं लगातार काम कर रही हैं। इसी क्रम में टीबी से ग्रसित बच्चों को हर वर्ग और संस्था के लोग अपनाकर जनपद को टीबी मुक्त बनाने में सहयोग प्रदान कर रहे हैं। इसी सिलसिले में शुक्रवार को नगर पालिका सभागार में कार्यक्रम आयोजित किया गया, जिसमें 18 वर्ष से कम उम्र के टीबी ग्रसित 75 बच्चे विभिन्न संस्थाओं ने गोद लिए। इनमें 45 बच्चे रोटरी क्लब, 15 बच्चे लायंस क्लब, 15 बच्चे इनर व्हील क्लब ने गोद लिये। टीबी से जल्दी रिकवर करने के लिए बच्चों को दाल,चावल, मिल्क पाउडर, घी, चना, गुड़ और मास्क दिए गए।
जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ. लोकेश चंद गुप्ता ने बताया 18 वर्ष से कम उम्र के टीबी से ग्रसित 75 बच्चों को रोटरी क्लब, लायंस क्लब, इनर व्हील क्लब की तरफ से गोद लिया गया है। इससे पहले 401 बच्चों को सामाजिक संस्थाओं, चिकित्सकों, जनप्रतिनिधि, सामाजिक कार्यकर्ताओं ने गोद लिया था। जिले में टीबी से ग्रसित 561 बच्चे चिन्हित किये गये थे, जिनमें से 298 बच्चे उपचार से ठीक हो चुके हैं, जबकि 234 बच्चों का इलाज चल रहा है। उन्होंने बताया सरकार की तरफ से इन बच्चों को पोषण सहायता राशि के रूप में प्रतिमाह 500 रुपये भी दिये जाते हैं। साथ ही इन बच्चों को निशुल्क दवा दी जाती है और समय-समय पर उनकी काउंसलिंग भी की जाती है, जिससे इनके इलाज में किसी भी तरह की बाधा न आए और नियमित रूप से दवा का सेवन करते रहें।
कार्यक्रम में मुख्य अतिथि नगरपालिका की चेयरमैन अंजू अग्रवाल, एसीएमओ डॉ. वीके सिंह, डीटीओ डॉ. लोकेश चंद गुप्ता, रोटरी क्लब के चेयरमैन सुनील कुमार, सिल्वर टोन संस्था की बीना, लायंस क्लब की उन्नति आदि उपस्थित रहे।

Related posts

Leave a Comment