अखिल भारतीय कूर्मि क्षत्रिय महासभा में व्याप्त भ्रष्टाचार व मनमानी को उजागर करने पर कूर्मि कौशल किशोर आर्य का आभार जताया

चौधरी धीरेन्द्र सिंह पटेल उर्फ धीरूभाई पटेल (दादा), शिक्षा वाहिनी समाचार पत्र।

आदरणीय कूर्मि कौशल किशोर आर्य। सादर जय शिवाजी जय शाहूजी जय सरदार पटेल। आप देश के पहले जागरूक कूर्मि कुलवंशज हैं, जिन्होंने 126 साल पूराने रजिस्टर्ड सामाजिक संगठन अखिल भारतीय कूर्मि क्षत्रिय महासभा में व्याप्त भ्रष्टाचार व मनमानी को देश के कुर्मी समाज के सामने उजागर किया है। इसके लिए आपको कोटिशः धन्यवाद।
वर्ष 1926 में हमारे दादा अघोषित स्वतंत्रता संग्राम सेनानी मास्टर दीप नरायन सिंह पटेल ने उत्तर प्रदेश स्थित मीरजापुर के चुनार में अखिल भारतीय कूर्मि क्षत्रिय महासभा का राष्ट्रीय अधिवेशन करवाया था, जिसमें गुजरात से भी कुर्मी समाज के बौद्धिक लोग आये थे, परन्तु 1962 में मेरे दादा मास्टर दीप नारायन सिंह पटेल की मृत्यु हो गई थी। उसके बाद से चुनार मीरजापुर में महासभा से जुड़े लोग छिन्न-भिन्न हो गये। बाद में अंतर्राष्ट्रीय कृषि वैज्ञानिक व मेरे सगे चाचा व मौसा भी प्रोफेसर ताड़क नाथ सिंह पटेल ((Dr. TN Singh)) अपने पिता दीपनरायन सिंह पटेल के पदचिन्हों पर चल कर 1980 में अखिल भारतीय कूर्मि क्षत्रिय महासभा जुड़े व महेन्द्र सिंह गंगवार व डा. सोनेलाल पटेल के साथ कंधे से कंधा मिलाकर कुर्मी समाज के हित में बहुत से काम किये, परन्तु महासभा में कुछ लोगों की मनमानी व उपेक्षात्मक रवैया के चलते टीएन सिंह कांशीराम के बामसेफ से जुड़ गए और बसपा प्रत्याशी के रूप में चुनार से 1989 व 2002 में चुनाव भी लड़ा था। फिलहाल विगत 10 वर्षों से टीएन सिंह अमेरिका की टेक्सास यूनिवर्सिटी में विजिटिंग प्रोफेसर के रूप में शोध छात्रों को पढ़ाते हैं। टीएन सिंह की प्रेरणा से ही मैं भी 1990 में ही महासभा से जुड़ गया, लेकिन कुछ लोगों की मनमानी व उपेक्षात्मक रवैये 1995 में एक सामाजिक संगठन सरदार पटेल सेवा दल का गठन किया। इस संगठन के कार्यक्रमों में सिर्फ कुर्मी समाज के कुछ लोग ही आते थे। बाद में 31 अक्टूबर 2015 को लौहपुरुष सरदार पटेल की जयंती समारोह में एक नये सामाजिक संगठन अखिल भारतीय कूर्मि कुलवंशज जागरूकता मंच की स्थापना की थी। आज यह सामाजिक संगठन कुर्मी समाज को जागरूक करने समबन्धित लेख या मेसेज व गोष्ठी- सम्मेलन करा कर एक प्रतिष्ठित सामाजिक संगठन बन चुका है। उत्तर प्रदेश के लगभग सभी जिलों सहित 9 राज्यों में संगठन विस्तार का कार्य हो गया है।

पूर्व प्रदेश अध्यक्ष यूनाइटेड स्टूडेंट यूनियन उत्तर प्रदेश। पूर्व अध्यक्ष (छात्र महासंघ) एवं कोर्ट मेम्बर डॉ राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय अयोध्या फैजाबाद उत्तर प्रदेश। चुनार मीरजापुर उत्तर प्रदेश।

Related posts

Leave a Comment