दिव्या जैन ने किया पटाखों की बिक्री व आतिशबाजी पर रोक का स्वागत

शि.वा.ब्यूरो, चित्तौडगढ़। पर्यावरण संरक्षण व सामाजिक चेतना का अभियान चला रही पर्यावरण मित्र, स्वच्छता अग्रदूत व कही अन्य पुरस्कारों से सम्माननित हो चुकी स्वच्छता प्रहरी दिव्या कुमारी जैन ने आज रविवार को मुख्यमंत्री आवास पर आयोजित बैठक ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा आतिशबाजी जे विक्रय व आतिशबाजी किये जाने पर रोक लगाए जाने का स्वागत किया है। कोरोना महामारी को देखते हुए आतिशबाजी से निकलने वाले धुंए व से अस्थमा व श्वास रोग को देखते हुए यह रोक लगाई गई है ।
पर्यावरण मित्र दिव्या जैन ने बताया कि उसने मुख्यमंत्री से इस विषय मे पत्र लिखकर निवेदन भी किया था कि राज्य में आतिशबाजी पर रोक लगाई जाने की आवश्यकता है और मुझे आज खुशी है कि मुख्यमंत्री  द्वारा कोरोना को देखते हुए यह ऐतिहासिक निर्णय लिया गया है।
दिव्या ने बताया कि वह प्रधानमंत्री को भी गत 6 वर्षों से इस विषय मे पत्र लिख रही है। दिव्या ने कहा कि उन्हें विश्वास है कि एक दिन पूरे भारत मे आतिशबाजी प्रतिबंधित होगी, होना भी चाहिए, क्योंकि यह बहुत बड़े स्तर पर पैसे की बर्बादी व प्रदूषण की जनक है और यह हमारी संस्कृति भी नही है ।
 दिव्या ने आशा व्यक्त की कि कोरोना के बाद भी स्थायी रूप से आतिशबाजी पर प्रतिबंध लगा रहना चाहिए, क्योंकि किसी को क्या अधिकार है कि वह अपने क्षणिक खुशी के लिए जल,थल व नभ को प्रदूषित करे व दुसरो के स्वास्थ्य व पशु पक्षियों को नुकसान पहुंचाए।

Related posts

Leave a Comment