जिला पंचायत की बैठक में कई मुद्दों पर हुआ मंथन, कार्तिक गंगा स्नान मेला शुकतीर्थ-2020 नहीं

शि.वा.ब्यूरो,  मुजफ्फरनगर। चौ0 चरण सिंह सदन में आहूत जिला पंचायत की बैठक में गत बैठक की कार्यवाही की पुष्टि हेतु अपर मुख्य अधिकारी द्वारा पढकर सुनायी गयी, जिसकी सर्वसम्मति से पुष्टि की गयी। अपर मुख्य अधिकारी ने बताया कि विशेष प्रस्तावः- वर्ष 2020-21 का संशोधित बजट की स्वीकृति पर विचार किया। अपर मुख्य अधिकारी द्वारा 775600000 आय, 775200000 व्यय एवं 475000 बचत का संशाोधित बजट पढकर सुनाया गया, जिसे सर्वसम्मति से स्वीकार किया गया। विशेष प्रस्ताव के तहत वित्तीय वर्ष 2020-21 विभव एवं सम्पत्ति कर की सॅूची पढकर सुनायी गयी जिसे सर्वसम्मति से स्वीकार किया गया।
अपर मुख्य अधिकारी ने बताया कि चतुर्थ राज्य वित्त आयोग के तहत प्राप्त धनराशि से अध्यक्ष द्वारा द्वारा बनायी गयी 03 कार्यो की 2395000की कार्य योजना अनुमोदन हेतु प्रस्तुत की गयी, जिस सर्वसम्मति से स्वीकार किया गया। पंचम राज्य वित्त आयोग के तहत वित्तीय वर्ष 2020-21 में प्राप्त होने वाले अनुदान के सापेक्ष कार्य योजना पढकर सुनायी गयी, जिसे सर्वसम्मति से स्वीकार किया गया। पंचम राज्य वित्त आयोग एवं पन्द्रहवा वित्त आयोग (अन्टाइड /टाइड फण्ड) के तहत उपलब्ध धनराशि एवं प्राप्त होने वाली धनराशि के सापेक्ष शासन के निर्देशानुसार पेवर द्वारा हाॅटमिक्स प्लांट से सडक बनाने  एवं अन्य कार्यो की कार्य योजना की स्वीकृति हेतु प्रस्ताव पढकर सुनाया गया, जिसे सर्वसम्मति से स्वीकार किया गया। कार्तिक गंगा स्नान मेला शुकतीर्थ-2020 के आयोजन पर विचार किया गया, जिसमें निर्णय हुआ कि कोविड-19 के दृष्टिगत मेले का आयोजन नही किया जायेगा, जिस पर जिला पंचायत सदस्य धीरेन्द्र सिंह व नजर सिंह द्वारा मांग की गयी कि शासन द्वारा प्राप्त गाईड लाईन के अनुसार ही कार्यवाही की जायें।
खण्ड विकास अधिकारी शाहपुर के कार्यालय पत्र के अनुसार ग्राम पंचायत बसी कला के प्रधान के माध्यम से हल्का लेखपाल द्वारा सामुदायिक शौचालय निर्माण हेतु जिला पंचायत की भूमि के चयन किये जाने पर चयन किये जाने पर जिला पंचायत की भूमि पर सामुदायिक शौचालय निर्माण की अनुमति प्रदान किये जाने पर विचार किया गया, जिसे सर्वसम्मति से अस्वीकृत किया गया। जिला प्रशासन के आदेशानुसार ग्राम सिलाजुडडी ब्लाक सदर में गौ अन्तयेष्टी स्थल की चारदीवारी आदि का निर्माण कराये जाने पर विचार हेतु प्रस्ताव रक्खा गया, जिसे सर्वसम्मति से स्वीकार किया गया। अन्य प्रस्ताव अध्यक्ष की अनुमति से सदस्यो द्वारा अपने क्षेत्र में विभिन्न विभागो की समस्या से अवगत कराया गया, जिसके निदान हेतु सम्बन्धित अधिकारियो को निर्देशित किया गया।

Related posts

Leave a Comment