पहाड़ी सप्ताह 2020 के अवसर पर पारंपरिक विवाह संस्कार गीतों का प्रसारण हुआ

उमा ठाकुर, शिमला। भाषा एवं संस्कृति विभाग शिमला और हिमवाणी संस्था द्वारा पहाड़ी सप्ताह -2020 के अवसर पर जिला शिमला के ठियोग तहसील के कोट शिलारू से महासुवी विवाह संस्कार गीतों (लाणें) का भाषा विभाग शिमला के फेसबुक पेज पर लाइव प्रसारण किया गया, जिसमें कोटगढ़ ,कुमारसैन व ठियोग  क्षेत्र के  विवाह संस्कार को पारंपरिक गायन शैली में प्रस्तुति किया गया। इस अवसर पर हिमाचल प्रदेश की मशहूर लोक गायिका रोशनी शर्मा ने शानदार प्रस्तुति दी। इसके अलावा लोक गायिका ज्ञानी शर्मा, मधु शर्मा,चेतना शर्मा आदि ने भी खूब समां बांधा।  हिमवाणी संस्था की कोषाध्यक्ष कल्पना गांगटा ने कुशलतापूर्वक मंच संचालन किया। लाइव रिकार्डिग का जिम्मा दीपक शर्मा और उमा ठाकुर ने संभाला।
बता दें कि हिमवाणी संस्था लोक संस्कृति के संरक्षण और संवर्धन हेतु निरंतर प्रयासरत हैं। यह प्रयास इसलिए भी जरूरी है, क्योंकि युवापीढ़ी कहीं न कहीं पहाड़ी बोली और प्राचीन परम्पराओं से विमुख होती जा रही है। लोक संस्कृति की धरोहर इन संस्कार गीतों की यदि गांव की मुँडेर से, शादी व्याह के समारोह से विश्व पटल पर पहचान बनानी है तो बहुत बड़े स्तर पर इन गीतों का प्रचार प्रसार बहुत जरूरी है। सभी की नैतिक जिम्मेदारी है कि हम सब मिलकर इन पारम्परिक संस्कार गीतों और प्राचीन परम्पराओं का संरक्षण और संवर्धन करें, ताकि आने वाली पीढ़ियों तक संस्कृति की यह अनमोल धरोहर यथावत् संरक्षित रह सके।

Related posts

Leave a Comment