मीरा सी भक्ति करो

अ. कीर्ति वर्द्धन, शिक्षा वाहिनी समाचार पत्र।

जीत कर भी हार जाना,
इश्क़ का मंजर यह,
डूब कर भी तैर आना,
प्यार की इन्तहा यह।
जब भी चाहो कृष्ण को,
मीरा सी भक्ति करो,
पटरानी रूकमणी,
राधा को व्याकुल हृदय यह।

मुज़फ्फरनगर, उत्तर प्रदेश

Related posts

Leave a Comment