शहीद मंगल पांडे राजकीय स्नातकोत्तर महिला महाविद्यालय में ऑनलाइन वेबीनार आयोजित 

शि.वा.ब्यूरो, मेरठ। शहीद मंगल पांडे राजकीय स्नातकोत्तर महिला महाविद्यालय द्वारा उत्तर प्रदेश सरकार की ‘मिशन शक्ति’ को कार्यान्वित करने के प्रथम चरण के आखिरी दिन एक ऑनलाइन वेबीनार का आयोजन किया गया, जिसका उद्देश्य बालिकाओं और महिलाओं को सशक्त सम्माननीय और सुरक्षित बनाने के मिशन को सार्थक बनाने और प्रथम चरण के आयोजनों का मूल्यांकन करना रहा।
वेबीनार के मुख्य अतिथि निदेशक उच्च शिक्षा उत्तर प्रदेश प्रो. अमित भारद्वाज रहे। कार्यक्रम का उद्घाटन मां शारदे की वंदना से डॉ. अमर ज्योति ने किया। तत्पश्चात महाविद्यालय प्राचार्य डा. दिनेश चन्द  ने सभी अतिथियों का औपचारिक स्वागत भाषण प्रस्तुत किया। मुख्य अतिथि प्रो. अमित भारद्वाज ने अपने उद्बोधन में कहा कि सरकार महिला सुरक्षा और सशक्तिकरण के सभी प्रयास कर रही है। महिलाओं के स्वास्थ्य, सुरक्षा और स्वावलंबन से संबंधित सभी स्तरों पर शासन की विभिन्न योजनाएं संचालित है, उच्च शिक्षा विभाग का उद्देश्य अधिकाधिक छात्राओं को आत्मरक्षा का प्रशिक्षण प्रदान करना और छात्रों को इसके प्रति संवेदनशील बनाना है।
बतौर मुख्य वक्ता संयुक्त निदेशक, उच्च शिक्षा एवं नोडल अधिकारी मिशन शक्ति उच्च शिक्षा, उ.प्र. प्रो. राजीव पांडे ने मिशन शक्ति को नारी सशक्तिकरण का एक महत्वपूर्ण अभियान बताते हुए सभी महाविद्यालयों को इसके लिए निरंतर  प्रयासों की आवश्यकता पर बल दिया। मिशन शक्ति अभियान की महाविद्यालय संयोजक डा. लता कुमार ने विगत नौ दिवसों में महाविद्यालय द्वारा आयोजित किए गए कार्यक्रमों की आख्या प्रस्तुत की।
कार्यक्रम में आमंत्रित वक्ता के तौर पर निदेशक-जनहित फाउंडेशन और सदस्य चाइल्ड लाइन मेरठ अनीता राणाने महिला सशक्तिकरण के विभिन्न प्रयासों और नियमों से परिचित कराया।आमंत्रित वक्ता के रुप में लखनऊ से जुड़ीं पूर्व पुलिस अधिकारी डा. सत्या सिंह ने अपने अनुभवों के आधार पर महिला सुरक्षा की समस्याओं पर प्रकाश डालते हुए जीरो एफआईआर जैसे महिला सुरक्षा के विविध प्रावधानों से परिचय कराया। गेस्ट ऑफ ऑनर उपस्थित रहे  पूर्व प्राचार्य और संयुक्त सचिव उच्च शिक्षा उ.प्र.प्रो. अश्विनी कुमार ने महिलाओं के सम्मान को महत्वपूर्ण बताते हुए महिलाओं के प्रति प्रचलित चुटकुलों से मनोरंजन करने वालों पर तल्ख टिप्पणी की। अध्यक्षीय उद्बोधन में प्रो. दिनेश चंद्र ने आयोजित वेबिनार की सफलता पर हर्ष जताते हुए कहा कि लक्ष्य का निर्धारण बहुत जरुरी है। अभियान में उ.प्र. सरकार और स्थानीय प्रशासन के सहयोग की सराहना करते हुए आपने कहा कि बेटियों के सशक्तिकरण के चौतरफा प्रयास किए जाएंगे और शासन की महत्वपूर्ण योजना को कार्यान्वित करने के लिए हम सभी प्रतिबद्धतापूर्वक प्रयास करेंगे।
 कार्यक्रम अधिकारी डॉ स्वर्णलता कदम ने छात्रों और अभिभावकों को मिशन शक्ति के संदर्भ में शासन द्वारा उपलब्ध कराई गई बालिका सुरक्षा की शपथ  ऑनलाइन दिलाई। डा. भारती शर्मा ने सभी अतिथियों का धन्यवाद ज्ञापित किया। कार्यक्रम का आयोजन जूम एप पर किया गया जिसे  यूट्यूब के माध्यम से विद्यार्थियों, अभिभावकों और प्राध्यापकों के द्वारा देखा गया। जिसमें लगभग 250  विद्यार्थियों, अभिभावकों और प्राध्यापकों की प्रतिभागिता रही। वेबिनार का संयोजन और संचालन मिशन शक्ति अभियान की महाविद्यालय कोऑर्डिनेटर लैफ्टि. (डा.) लता कुमार ने किया।आयोजन में मिशन शक्ति सह संयोजक डॉ. अनुजा रानी गर्ग, रेंजर्स प्रभारी, समिति सदस्यों डॉ. डॉ मंजू रानी, कार्यक्रम अधिकारी एनएसएस इकाई द्वितीय, डॉ भारती शर्मा विभाग प्रभारी शारीरिक शिक्षा, डॉ पूनम भंडारी शारीरिक शिक्षा विभाग, डॉ जितेंद्र बालियान शारीरिक शिक्षा विभाग, डॉ. ममता सागर (कला संकाय), डॉ. अमर ज्योति (बी.एड. संकाय), डॉ. सत्यपाल सिंह राणा (विज्ञान संकाय), डॉ. विकास कुमार ( वाणिज्य संकाय) तथा महाविद्यालय के सभी प्राध्यापकों और कर्मचारियों ने अमूल्य योगदान दिया।

Related posts

Leave a Comment