पुलिस-पब्लिक रिलेशन बेहतर करना व क्राईम पर जीरो टाॅलरेंस की नीति नवागंतुक कोतवाल यशपाल सिंह की प्राथमिकताओं में शामिल


शि.वा.ब्यूरो, खतौली। क्राईम पर जीरो टाॅलरेंस नीति व अपराध संख्या बढ़ाने नहीं वरन अपराध को जड़ से समाप्त करने की कोशिश के तहत पीड़ित और आरोपी की बात को गम्भीरता से सुनकर मामले की तह तक पहुंचना नवागंतुक थाना प्रभारी यशपाल सिंह की कार्यशैली का मूलमंत्र है। उन्होंने पत्रकारों को बताया कि बेहतर पुलिसिंग सहित पुलिस-पब्लिक के बीच बेहतर समन्वय उनकी प्राथमिकताओं में शामिल है।

https://youtu.be/mEZW3izIMAw
वर्ष 1989 में जनपद गाजियाबाद से बतौर कांस्टेबल पुलिस नौकरी करने वाले आगरा के मूल निवासी यशपाल सिंह लगभग आठ जनपदों में कई दर्जन पुलिस स्टेशनों में अपनी योग्यता का जौहर दिखा चुके हैं। थाना प्रभारी यशपाल सिंह ने बताया कि वे जनपद सहारनपुर में 8-10 थानों के प्रभारी रहने के साथ ही डीआईजी के पेशकार भी रह चुके हैं और जनपद मुजफ्फरनगर में भी उन्होंने बुढ़ाना, शाहपुर व छपार के बाद अब खतौली में चौथे पुलिस स्टेशन का चार्ज सम्भाला है। उन्होंने पत्रकारों से अनौपचारिक बातचीत में बताया कि पुलिस-पब्लिक रिलेशन बेहतर करना व क्राईम पर जीरो टाॅलरेंस की नीति उनकी प्राथमिकताओं में शामिल है। उन्होंने कहा कि जो हो सही हो, उसमें किसी भी आमजन के साथ किसी तरह का गलत न करना है और न होने देना है। नवागंतुक थाना प्रभारी ने कहा कि वे हर फरियादी की बात को गम्भीरता से सुनने और उसका स्थाई समाधान करने का प्रयास करते हैं, क्योंकि लोग पुलिस के पास बडी आशा के साथ आते हैं, फरियादियों की अपेक्षाओं पर खरा उतरना उनकी प्राथमिकता रहती है। आरोपी और पीड़ित दोनों से साक्षात्कार करके मामले की तह तक पहुंचना और असल विवाद की जड़ को पहचानकर समूल समाप्त करना उनकी कार्यशैली में शामिल है। उन्होंने अपने अधिनस्थों को निर्देशित किया कि आज सांय 8 बजे थाना कोतवाली के समस्त स्टाफ की एक बैठक कोरोना नियमों का पालन करते हुए आयोजित की जाये। उन्होंने बताया कि थाने में आने वाले हर व्यक्ति की बात को ध्यान से सुनने और उसका समाधान खोजने का संदेश वे अपने हर अधिनस्थों को बैठक में देंगे।

Related posts

Leave a Comment