ग्राम प्रधानों एवं ग्राम पंचायत सदस्यों का शपथ ग्रहण 25-26 मई व संघटित ग्राम पंचायतों की प्रथम बैठक 27 मई को

शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर। पंचायती राज विभाग के अपर मुख्य सचिव के पत्र के अनुपालन में जिलाधिकारी ने सभी खण्ड विकास अधिकारियों को ग्राम पंचायतों के सामान्य निर्वाचन-2021 के उपरान्त ग्राम पंचायतों के संघटन की अधिसूचना जारी करने, संघटित ग्राम पंचायत के प्रधान एवं सदस्यों को शपथ दिलाये जाने तथा ग्राम पंचायत की प्रथम बैठक आयोजित किये जाने के निर्देश निर्गत किये है। जारी सूचना के अनुसार जनपद के सबसे अधिक 84 ग्राम पंचायतों वाले विकास खण्ड़ खतौली में असंघटित ग्राम पंचायतों की संख्या सबसे कम यानी मात्र एक है। इसके विपरीत जनपद के सबसे कम 40 ग्राम पंचायतों वाले ब्लाॅक शाहपुर में असंघटित ग्राम पंचायतों की संख्या 14 है, जबकि जनपद के जानसठ ब्लाॅक में असंघटित ग्राम पंचायतों की संख्या सबसे अधिक 20 है। 498 ग्राम पंचायत वाले जनपद मुजफ्फरनगर में संघटित कुल ग्राम पंचायतों की संख्या 395 व असंघटित कुल ग्राम पंचायतों की संख्या 103 है।

ग्राम पंचायतो के संघटन के सम्बन्ध मे की जाने वाली कार्यवाही

सामान्य निर्वाचन-2021 के उपरान्त जनपद मे 498 ग्राम पंचायत मे से 395 ग्राम पंचायत संघटित होने के मानक पूर्ण करती है। संघटित ग्राम पंचायतों की अधिसूचना हेतु रिर्टनिंग आॅफिसर के स्तर से पूर्व मे ही शासन के निर्देशानुसार आपसे सूचना प्राप्त की जा चुकी है। उक्त प्राप्त सूचना के आधार पर 395 संघटित ग्राम पंचायतो की अधिसूचना सहायक विकास अधिकारी (पंचायत) के कार्यालय पर चस्पा करा दी जायेगी।

संघटित ग्राम पंचायतों के सम्बन्ध मे यह अनिवार्यतः ध्यान रखा जायेगा कि ग्राम पंचायत के ग्राम प्रधान व ग्राम पंचायत के कुल सदस्यों मे से दो तिहाई सदस्य निर्वाचित हो चुके हो। यदि कोई ग्राम पंचायत संघटित किये जाने के लिए मानक पूर्ण नही करती है तो उसके सम्बन्ध मे पृथक से सूचना संलग्न कर प्रेषित की जायेगी।

शपथ ग्रहण

सामान्य निर्वाचन -2021 के उपरान्त संघटित ग्राम पंचायत के प्रधानों एवं ग्राम पंचायत सदस्यों को  25 व 26 मई को शपथ ग्रहण कराई जानी है। असंघटित ग्राम पंचायतों मे शपथ नही दिलायी जायेगी। शपथ ग्रहण कराये जाने हेतु सम्बन्धित ग्राम प्रधान व ग्राम पंचायत सदस्यगण अपने-अपने ग्राम पंचायत मे ही शपथ ग्रहण खण्ड विकास अधिकारी-सहायक विकास अधिकारी के समक्ष वीडियो कांफ्रेसिंग या वर्चअल रूप मे ले सकेंगे। खण्ड विकास अधिकारी-सहायक विकास अधिकारी वीडियो कांफ्रेसिंग या वर्चअल रूप से शपथ ग्रहण कराने हेत विकास खण्ड मुख्यालय पर उपस्थित होकर करायेगे। शपथ ग्रहण पंचायत घर सामुदायिक भवन अथवा ग्राम पंचायत क्षेत्र में स्थित काॅमन सर्विस सेन्टर पर कोविड-19 के प्रोटोकाल के साथ आयोजित किया जायेगा। ग्राम पंचायत सचिवगण द्वारा लैपटाप आदि (इटंरनेट कैनेक्टिविटी के साथ) व्यवस्था में सहयोग किया जायेगा।
बता दें कि शपथ ग्रहण कराये जाने हेतु सामान्य निर्वाचन-2021 के उपरान्त निर्वाचित प्रधानों एवं सदस्यों को नियत प्रपत्र पर शपथ लेने एवं उस पर हस्ताक्षर करने का प्राविधान है। उत्तर प्रदेश पंचायती राज अधिनियम 1947 की धारा 12 ड़ (2) में यह स्पष्ट प्राविधान है कि किसी ऐसे सदस्य के सम्बन्ध में जो उपर्युक्त रूप से शपथ लेने या प्रतिज्ञा करने से इन्कार या अन्य प्रकार से उसे अस्वीकार करे, यह समझा जायेगा कि उसने तत्काल अपना पद रिक्त कर दिया है। सम्बन्धित ग्राम पंचायत सचिव ग्राम प्रधान व सदस्यों के द्वारा वीडियो कांफ्रेसिंग या वर्चअल रूप से शपथ लेने के उपरान्त शपथ प्रपत्र पर हस्ताक्षर करायेगें। सामान्य निर्वाचन -2021 के उपरान्त निर्वाचित प्रधानों एवं ग्राम पंचायत सदस्यों द्वारा अपने पद की शपथ खण्ड विकास अधिकारी, सहायक विकास अधिकारी, तहसीलदार, नायब तहसीलदार अथवा अधोहस्ताक्षरी द्वारा इस निमित्त नियुक्त किसी अन्य अधिकारी के समक्ष उसके द्वारा नियत समय व स्थान पर शपथ लिये जाने का प्राविधान है।
सामान्य निर्वाचन 2021 मे निर्वाचित प्रधानों एवं ग्राम पंचायत सदस्योें को दिनांक 25 मई को मोरना विकास खण्ड में सहायक विकास अधिकारी पंचायत व विकास खण्ड कार्यालय पर सम्बन्धित खण्ड विकास अधिकारियों द्वारा शपथ ग्रहण कराई जायेगी तथा  27 मई को संघटित ग्राम पंचायत की प्रथम बैठक आयोजित किये जाने हेतु सम्बन्धित ग्राम प्रधानों को लिखित रूप में अवगत कराने की व्यवस्था भी सुनिश्चित की जायेगी।

संघटित ग्राम पंचायतों की प्रथम बैठक 27 मई को

27 मई को जनपद की सामान्य निर्वाचन उपरान्त समस्त संघटित ग्राम पंचायतों की प्रथम बैठक आहूत की जानी है, जिसके लिए उत्तर प्रदेश पंचायती राज नियमावली के नियम 31 तथा 32 में दी गई व्यवस्थाओं के अनुसार ग्राम पंचायत प्रधान द्वारा शपथ ग्रहण के बाद ग्राम पंचायत की 27 मई को बैठक हेतु समय व स्थान (यथा सम्भव पंचायत भवन/सामुदायिक भवन) उल्लिखित करके प्रथम बैठक की नोटिस जारी करते हुए समस्त ग्राम पंचायत सदस्यों को लिखित रूप में नोटिस तामिल करा दी जाये तथा नोटिस की एक प्रति पंचायत भवन जैसे सार्वजनिक स्थान पर भी चस्पा कर दी जायेगी। इस बैठक में मुख्य रूप से कोविड-19 के दृष्टिगत उत्पन्न परिस्थियों व कारगर तरीके से इसके समाधान के विषय पर चर्चा की जायेगी। चर्चा में आए मुख्य बिन्दु व सुझाव को संकलित कर खण्ड विकास अधिकारी के माध्यम से जनपद स्तर पर उपलब्ध कराया जायेगा।
प्रथम बैंठक के एजेण्डा में ग्राम पंचायत की 6 समितियों के गठन की कार्यवाही का बिन्दु भी रखा जायेगा और यथासम्भव प्रथम बैठक में ही समितियां गठित करा दी जायेगी।यदि किसी कारणवश प्रथम बैठक में छः समितियां गठित नही हो पाती है तो नियमानुसार ग्राम पंचायत की अगली बैठक में सभी ग्राम पंचायतों में समितियां अवश्य गठित करा ली जायेगी। बैठक में कोविड-19 के प्रोटोकाॅल का अनुपालन सुनिश्चित किया जायेगा। सम्बन्धित सचिव के स्तर से बैठक की तिथि व समय तथा नियत स्थल की सूचना का व्यापक प्रचार-प्रसार के माध्यम से व निर्वाचित पदाधिकारियों को लिखित में सूचना उपलब्ध करा दी जायेगी।

ज्ञात हो कि विकास खण्ड पुरकाजी की 43 ग्राम पंचायतों में से 40 ग्राम पंचायतें संघटित व 3 बरला, चमरावाला तथा रेत्तानंगला ग्राम पंचायतें असंघटित हैं। विकास खण्ड सदर की 53 ग्राम पंचायतों में से 38 ग्राम पंचायतें संघटित व 15 बढेडी, सिसौना, मुस्तफाबाद, मेघाखेडी, चांदपुर, मखियाल, सिखरेडा, धन्धेडा, शेरनगर, बीबीपुर, भिक्की, बहादुरपुर, खेडी विरान, बिहारी व मोलाहेडी ग्राम पंचायतें असंघटित हैं। विकास खण्ड बघरा की 48 ग्राम पंचायतों में से 33 ग्राम पंचायतें संघटित व 15 कुटबी, अलीपुर कला, धौलरी, लालूखेडी, साल्हाखेडी, नसीरपुर, निरमानी, पीपलहेडा, नंगला पिथोैरा, किनौनी, जागाहेडी, सैदपुर खुद, मुकन्दपुर, ढिंढावली व माण्डी ग्राम पंचायतें असंघटित हैं। विकास खण्ड चरथावल की 59 ग्राम पंचायतों में से 47 ग्राम पंचायतें संघटित व 12 रोहाना कलां, मलीरा, बाननगर, जटनंगला, पीपलशाह, लकडसंधा, रोहाना खुर्द, बडकली, कल्लरपुर, भमेला, छिमाऊ व महाबलीपुर ग्राम पंचायतें असंघटित हैं। विकास खण्ड शाहपुर की 40 ग्राम पंचायतों में से 26 ग्राम पंचायतें संघटित व 14 दिनकरपुर, खुब्बापुर, पुरा, सहोजनी तगान, डबल, मुबारिकपुर, गोयला, बसधाडा, धनायन, बसीकलां, पलडा, कमालपुर, हडोली व सावटू ग्राम पंचायतें असंघटित हैं। विकास खण्ड बुढ़ाना की 60 ग्राम पंचायतों में से 45 ग्राम पंचायतें संघटित व 15 खिजरपुर, भसाना, बवाना, खानपुर, डूगंर, सरनावलर, फुगाना, राजपुर-छाजपुर, हरियाखेडा, कमरूदीननगर, मिण्डकाली, महलजना, कुतुबपुर दताना, अटाली व नगवा ग्राम पंचायतें असंघटित हैं। विकास खण्ड खतौली की 84 ग्राम पंचायतों में से 83 ग्राम पंचायतें संघटित व एक मोहिउद्दीनपुर ग्राम पंचायत असंघटित हैं। विकास खण्ड जानसठ की 63 ग्राम पंचायतों में से 41 ग्राम पंचायतें संघटित व 20 नगला मुबारिक, नगला कबीर, तालडा, जानसठ देहात, चुडियाला, जटवाडा, सिखरेडा, कैलापुर जसमोर, हुसैनपुर, जलालपुर नीला, हंसावाला, पुटठी इब्रहिमपुर, हाशमपुर, खेडी सराय, घटायन उत्तरी, घटायन दक्षिणी, कासमपुर भुम्मा, तुरहेडी, बहादरपुर मनफोडा व जबरदस्तपुर उर्फ मन्तौडी ग्राम पंचायतें असंघटित हैं। विकास खण्ड मोरना की 50 ग्राम पंचायतों में से 42 ग्राम पंचायतें संघटित व 8 बरूकी, केडी दरियापुर, चैरावाला, तिस्सा, करहेडा, भेडाहेडी, भुवापुर व भण्डूर ग्राम पंचायतें असंघटित हैं।

Related posts

Leave a Comment