पीएमएसएमए दिवस और विशेष अंतरा दिवस नौ अप्रैल को

शि.वा.ब्यूरो, शामली। परिवार नियोजन कार्यक्रम के तहत नौ अप्रैल को जनपद समेत पूरे सूबे में विशेष अंतरा दिवस का आयोजन किया जाएगा। मौका होगा प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान (पीएमएसएमए) दिवस का। यानि नौ अप्रैल को इस बार गर्भवती महिलाओं के साथ 42 दिन पहले या उससे पूर्व मां बनी महिलाओं को भी आशा नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र लेकर पहुंचेंगी, ताकि दो बच्चों के बीच सुरक्षित अंतर के लाभ बताते हुए उन्हें परिवार नियोजन के सही मायने बताए जा सकें।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) डा. संजय अग्रवाल ने बताया हर माह की नौ तारीख को पीएमएसएमए दिवस का आयोजन किया जाता है। गर्भवती की प्रसव पूर्व जांच के लिए नौ अप्रैल को होने वाले प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान दिवस की तैयारी कर ली गई है। सभी सामुदायिक व प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों (सीएचसी, पीएचसी), उपकेंद्रों और हेल्थ वेलनेस सेंटर पर विशेष अंतरा दिवस मनाया जाएगा। इस दिन महिलाओं को त्रैमासिक गर्भ निरोधक इंजेक्शन अंतरा की सेवा दी जाएगी। इस दिन सभी स्वास्थ्य केंद्रों पर गर्भवती महिलाओं को प्रसव पूर्व जांच और अल्ट्रासाउंड जैसी निशुल्क सुविधा उपलब्ध कराई जाती है। इसका प्रमुख उद्देश्य हाई रिस्क प्रेगनेंसी (एचआरपी) के बारे में पता लगाना है ताकि समय रहते ऐसी गर्भवती महिलाओं को जरूरी स्वास्थ्य सेवाएं दी जा सकें। शासन के निर्देश पर इस बार पीएमएसएमए दिवस के साथ ही विशेष अंतरा दिवस का आयोजन किया जाएगा, ताकि प्रजनन स्वास्थ्य की बेहतर जानकार, महिला रोग विशेषज्ञ स्वयं यह बता सकें कि दो बच्चों के बीच सुरक्षित अंतर मां और बच्चे के स्वास्थ्य के लिए कितना जरूरी है।
कोरोना काल के चलते प्रभावित हुए परिवार नियोजन कार्यक्रम को गति देने के लिए शासन के निर्देश पर विशेष अंतरा दिवस का आयोजन किया जा रहा है। मां बनने के 42 दिन बाद गर्भनिरोधक इंजेक्शन अंतरा दिया जा सकता है। यह एक त्रैमासिक गर्भ निरोधक इंजेक्शन है। यानि एक बार इंजेक्शन लगवाने के बाद अनचाहे गर्भ से तीन माह के लिए छुटकारा मिल जाता है।
पहली बार इंजेक्शन लगवाने के बाद लाभार्थी को टोल फ्री अंतरा केयर लाइन 1800-130-3044 पर डायल करके अपना पंजीकरण कराना होता है। पंजीकरण के बाद लाभार्थी को जरूरी परामर्श समय-समय पर मिलता रहता है। यहां तक कि अगला इंजेक्शन कब लगना है, इसकी जानकारी भी अंतरा केयर लाइन से दी जाती है। लाभार्थी चाहें तो इस नंबर पर कॉल कर अपनी आशंका का समाधान भी कर सकती हैं।
सीएमओ ने बताया अंतरा को लेकर महिलाओं की आशंकाओं का समाधान आशा के स्थान पर डाक्टर करेंगी, तो ज्यादा प्रभावी होगी, इसी सोच के साथ शासन ने विशेष अंतरा दिवस को पीएमएसएमए दिवस पर आयोजित करने का निर्णय लिया है। उन्होंने गर्भवती महिलाओं के साथ ही 42 दिन या इससे पूर्व मां बनी महिलाओं से भी नौ अप्रैल को नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पहुंचने की अपील की है। सीएमओ ने कहा है कि स्वास्थ्य केंद्र पर मॉस्क लगाकर ही जाएं। सार्वजनिक स्थानों पर जाते समय कोविड प्रोटोकॉल का पालन करें। खासकर गर्भवती महिलाओं को विशेष सावधानी की जरूरत है।

Related posts

Leave a Comment