सुरक्षित गर्भपात समापन को लेकर आशा-एएनएम के साथ बैठक आयोजित

शि.वा.ब्यूरो, मेरठ। ग्रामीण समाज विकास केंद्र की ओर से सीएचसी दौराला पर सुरक्षित गर्भपात समापन को लेकर जिला महिला अस्पताल की डॉ. ज्योति सिंह की अध्यक्षता में आशा-एएनएम के साथ बैठक की गई, जिसमें प्रोग्राम डायरेक्टर अमित के साथ प्रोग्राम ऑफिसर रविता ढांगे ने एमटीपी एक्ट के बारे में चर्चा करते हुए सुरक्षित गर्भ समापन के लिए आशा-एएनएम के साथ चर्चा की। इस दौरान करीब 90 आशा-एएनएम मौजूद रही।
प्रोग्राम ऑफिसर रविता ने बताया कि ग्रामीण समाज विकास केंद्र एक सामाजिक संस्था है जो साझा प्रयास नेटवर्क के अंतर्गत उत्तर-प्रदेश के 10 जिलों में सुरक्षित गर्भ समापन एवं परिवार नियोजन के प्रति लोगों को जागरुक करने लिए काम कर रही है। उन्होंने बताया कि गर्भपात एक महिला का कानून अधिकार है एमटीपी एक्ट के तहत 20 सप्ताह तक का गर्भपात करवा सकती है लेकिन उसके लिए 4 परिस्थिति है जिनके तहत गर्भपात करवाना जरुरी हो जाता है।
गर्भपात कानून वैध कब
गर्भनिरोधक साधनों के विफल हो जाने पर
गर्भावस्था बलात्कार का परिणाम हो
महिला की जान को खतरा हो
बच्चे में गंभीर शारीरिक या मानसिक विकृति होने की संभावना हो

Related posts

Leave a Comment